नींबू का मीठा अचार – How To Make Sweet Lemon Pickle Recipe In Hindi

6030

नींबू का मीठा अचार  नीबू के कई तरह के आचार डाले जाते हैं. आज हम आपको नींबू और गुड़ का खट्टा मीठा आचार बनाना  बता रहे हैं. यह आचार भी और आचार की तरह लम्बे समय तक चलता है.और स्वाद में भी बहुत अच्छा लगता है. तो आइए हम नींबू और गुड़ से खट्टा मीठा आचार बनाना बताते हैं.

नींबू का मीठा अचार बनाने की सामग्री- Ingredients For Gur and Nibu Pickle Recipe

नीबू – 12 (500 ग्राम ) कागजी बेराइटी
नमक – 3 टेबल स्पून
गुड़ – 600 ग्राम
लाल मिर्च – 1 / 2 छोटा चम्मच
इलायची – 5
कला नमक – 2 छोटा चम्मच
गरम मसाला – 1 छोटा चम्मच
अदरक पाउडर – 1 छोटा चम्मच

नींबू का मीठा अचार बनाने की विधि- How To Make For Sweet Lemon Pickle With Jaggery

यहाँ देखें तंदूरी पिज़्ज़ा बनाने की रेसिपी 

नींबू का मीठा अचार  बनाने के लिए बाजार से पतले छिलके बाले बिना धब्बों के ही नींबू लें. नींबू को अच्छे से पानी से धोकर सुखा लीजिए. एक नींबू के 8 टुकड़ों के हिसाब से सारे नीबू के टुकड़े कर लीजिए. और चाकू से नींबू के सारे बीज निकाल दीजिए.  और एक कंटेनर में नींबू के टुकड़ों में नमक मिला कर कंटेनर में डालकर बंद करके 15 -20 दिन के लिए धूप में रख दीजिए.

पालक सूप बनाने की रेसिपी यहाँ देखें 

2 – 3 दिन में एक बार कंटेनर को हिला कर नींबू को ऊपर नीचे कर दीजिए. इससे नीबू के छिलके नरम हो जाएंगे. 15 – 20 दिन के बाद नींबू नरम हो जाएं तो गुड़ की चाशनी को तैयार कर लीजिए. इसके लिए पेन को गैस पर रखकर उसमें गुड़ और आधा कप पानी डालकर गरम होने के लिए रख दीजिए.

यहाँ जानें तरबूज़ का शरवत बनाने की विधि 

अब इलायची को छील कर कूटकर पाउडर बना लीजिए. गुड़ की चाशनी बन जाने पर उसमें नींबू, काला नमक, अदरक का पाउडर, गरम मसाला, लाल मिर्च पाउडर डालकर अच्छे से मिक्स कर दीजिए. और चाशनी को तब तक पकाते रहिए जब तक चाशनी अच्छे से गाढ़ी न हो जाए. चाशनी के गाढ़ी हो जाने पर गैस को बंद कर दीजिए. और आचार को ठंडा होने के लिए रख दीजिए.

बादाम कुकीज़ बनाने की विधि यहाँ देखिए 

अब आपका नींबू और गुड़ का मीठा आचार बन कर तैय्यार है. अच्छी तरह से ठंडा होने पर अचार को एक कंटेनर में भरकर रख दीजिए. और जब भी आपका मन करे अचार को निकाल कर खाएं और खिलाएं. नींबू और गुड़ के मीठे अचार को 2 साल तक रखा जा सकता है.

सुझाव:-
आप अचार को जिस कंटेनर में रख रहे हैं. उसे गरम पानी से अच्छे से धोकर धूप में सुखा लीजिए.
अचार को जब भी खाने के लिए निकालें उसे सूखे और साफ चम्मच से ही निकालें.